डॉ संजीव गोयल को बदनाम करने की साजिश अफवाह पर ध्यान ना दें क्षेत्र के ग्रामीण

डॉ संजीव गोयल को बदनाम करने की साजिश – करोना महामारी के इस दौर में केंद्र और राज्य सरकार प्रशासनिक अधिकारी और डॉक्टर सफाई कर्मचारी मीडिया कर्मियों को करोना योद्धा का नाम देकर सम्मान कर रही है।

तो वही ताजा मामला भगवानपुर कांटे वाली गली डॉक्टर संजीव गोयल फिजिशियन गोयल क्लीनिक का है जिसको लेकर भगवानपुर क्षेत्र में कुछ सामाजिक असामाजिक तत्वों ने षड्यंत्र रच बदनाम करने की साजिश रची है।

सूत्रों की माने तो क्षेत्र में चर्चा ये भी है कि डॉक्टर संजीव गोयल को करोना हुवा है। भगवानपुर पुलिस स्वास्थ्य विभाग ने उठा लिया है। उनको चाहिए कि वो सीसीटीवी फुटेज कंगाले और कुछ लोगों की दबी जुबां चर्चा यह भी है की गोयल क्लिनिक से करोना पॉजिटिव मरीज मिला है।

वही जब इस विषय में डॉक्टर संजीव गोयल से बात की गई तो वही संजीव गोयल और एकता गोयल से बात की गई तो इस विषय में दोनों ने अपने ऊपर लगे आरोप को निराधार गलत बताते हुवे गोयल क्लीनिक को बदनाम करने की साजिश बताई है।

डॉ संजीव गोयल को बदनाम करने की साजिश

अपने ऊपर लगे आरोप को सरासर गलत बताया

और कहा कि किसी ने यह झूठी अफवाह फैलाई है। डॉक्टर संजीव गोयल का कहना है के क्षेत्र से मेरे पास ग्रामीणों के बार-बार फोन भी आ रहे हैं लेकिन यह बात सरासर गलत है, ना तो मेरे यहां कोई करोना का मरीज मिला है और ना ही मुझे करोना है।

और अगर कोई व्यक्ति क्लिनिक पर दवाई लेने आता है तो सोशल डिस्टेंसिंग पालन करते हुवे सैनिटाइजर ग्लफस मार्क्स का इस्तेमाल करते हैं और कानून का पालन करते हुवे समाज सेवा करने का काम करते हैं।

जहां एक तरफ डॉक्टरों को करोना योद्धा का दर्जा देते तो वही कुछ लोग डॉक्टरों को बदनाम करने में लगे हैं तो वहीं डॉ संजीव गोयल ने कहा कि जिस शख्स ने ये षड्यंत्र रचा है उसके खिलाफ थाने में तहरीर देकर पुलिस प्रशासन से कानूनी कार्यवाही की मांग की जाएगी।

अब सवाल ये भी है।कि ऐसे सम्मानित डॉ पर झूठा आरोप लगाने वालों पर स्वास्थ्य विभाग और प्रशासनिक अधिकारी मामला संज्ञान में लेकर किया कार्यवाही करते हैं या फिर डॉक्टर संजीव गोयल जो करोना महामारी के इस दौर में अपनी जान जोखिम में डालकर एक समाज सेवा करने का काम कर रहे हैं।

ऐसे करोना योद्धाओं को स्वास्थ्य विभाग को सम्मानित कर देना चाहिए लेकिन एक तरफ स्वास्थ्य विभाग डॉक्टरों को करोना योद्धा का नाम देकर राज्य सरकार सम्मानित करने मे लगी अब देखना ये होगा कि आखिर किसकी शै पर षड्यंत्र रचने वाले व्यक्तियों पर क्या कार्यवाही होती है या फिर नहीं।

For More Latest Updates Please Like Us On Our Facebook Page.

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial