Due to the youth, most leaders have to show social service.

Youth Pressure On Leaders:

कोरोना वायरस जैसी महामारी से जहाँ एक तरफ़ गरीब व मज़दूर लोगो की मदद करने में केंद्र सरकार पूरी विफल दिखाई दे रही है वही दूसरी तरफ देश के युवाओं ने पुलिस प्रशासन के साथ मिलकर वोह कर दिखाया जिसका पूरा हिंदुस्तान हमेशा बानगी रहेगा।


शांति दूत समाजसेवी आतिफ़ ने बताया कि देश के युवाओं ने अपने निजी जमा पैसे से हर तरह से गरीब व मज़दूर लोगो की मदद करनी चाहिए। लाकडाउन में बेबस अपने वतन लोट रहै मज़दूरों को खाना खिलाने की बात हो चाहे घर पर बिना चूल्हा जल रहे घरों में कच्चा राशन व अन्य खाने सम्बन्धित चीज़ों को उनके घर घर पहुँचा कर मदद करने की हो।

Youth Pressure On Leaders:

youth pressure on leaders


चाहे जागरूकता के नाम पर मास्क सेनिटाइजर व ग्लब्स बाटकर इस महामारी से बचने के लिए लोगो को जागरूक करने की हो हर जगह देश के युवाओं की भागीदारी प्रथम रही और कहि कहि इन युवाओं की वजह से नेताओ को शर्माकर लोगो की मदद करने के लिए मजबूर होना पड़ा

आतिफ़ ने मौका परस्त नेताओ पर प्रहार करते हुए कहा कि कुछ तुच्छ नेता इन विषम परिस्थितियों में भी हिन्दू मुस्लिम की राजनीति कर देश मे कोरोना से ज़्यादा खतरनाक जहर घोलकर नफरत का माहौल पैदा करने की नाकाम कोशिश किये जा रहे, जिन्हें देश का पढ़ा लिखा युवा कतई कामयाब नही होने देगा

आतिफ़ ने कहा कि आज इस महामारी से लड़ने के लिए देश का हर वर्ग का युवा तैयार है,क्योंकि इस महामारी से आपसी मोहब्बत से एक दूसरे का सहयोग कर और सरकार द्वारा जारी आदेशो का पालन कर आसानी से लड़ा जा सकता है।

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial