क्या लॉकडाउन आगे बढ़ेगा- हालात को देखते हुए ३ मई से आगे बढ़ाया जा सकता है।

क्या लॉकडाउन आगे बढ़ेगा- आज जहा पूरा देश कोरोना वायरस से जुंग लड़ रहा है वहीँ कुछ ऐसे भी हैं जो इस पूरी कवायद पे पानी फेरने पर लगे हुए हैं।

जैसा की हम सब जानते हैं की कोरोना वायरस का अभी कोई इलाज नहीं निकला है। इसका एक मात्र इलाज है की लोगों से दूरी बना के रखी जाए, और ये लॉक डाउन से ही संभव है।

अभी सरकार ने दोपहर 1 बजे तक की छूट दी हुई है लोगों को घर का ज़रूरी सामान खरीदने की, और बाज़ारों में लोग ऐसे जाते हैं की जैसे आम दिनों में बाज़ारों में घूमते हैं।

Community Spread (3rd Stage) का भी है खतरा।

सोशल डिस्टेंसिंग का जरा भी ख्याल नहीं रखा जा रहा है, ऐसे में अगर किसी को यह महामारी होगी तो वो आसानी से किसी भी वयक्ति को हो सकती है। और अगर ऐसा हुआ तो हमे COVID-19 के तीसरे चरण में पहुंचने में से कोई नहीं बचा सकता।

तीसरा चरण वह चरण है जिसे बोलते हैं कम्युनिटी स्प्रेड। इसमें किसी को नहीं पता होता की कौन व्यक्ति संक्रमित है और कौन नहीं और यह एक से ले कर एक हज़ार और फिर एक लाख और फिर एक करोड़ तक कब पहुंच जाए कुछ पता नहीं लगेगा।

आप खुद सोचिये की पूरे देश को बंद करने में हमारे प्रधान मंत्री जी का अपना क्या हित है ? वह क्यों देश की अर्थ वयस्था को पिछड़ने देंगे ? वह यह सब सिर्फ इसलिए कर रहे हैं जिस से आप का जीवन बच सके और इस देश का जीवन बच सके।

ज़िन्दगी का भी कोई मोल नहीं दिखाई देता।

दूसरी तरफ ऐसे भी लोग हैं जो यह चाहते हैं की देश को यह महामारी पूरी तरह से अपनी गिरफ्त में ले ले। अभी हाल ही में एक व्यक्ति के उकसाने पर मुंबई के बांद्रा टर्मिनस पे हजारों की संख्या में लोग जमा हो गए।

वहीँ दूसरी तरफ दिल्ली में भी लोग भीड़ लगा के सड़को पे उतर आये। हमे यह समझ नहीं आता की क्या हिंदुस्तान में समझदारों की कमी है या हमारा दिमाग इतना विकसित नहीं हुआ की अपने अच्छे बुरे की समझ ही ख़तम हो जाए।

आप लोगों को पता होने के बावजूद की इस बीमारी का कोई इलाज नहीं है फिर भी ऐसी हरकतें करते हैं। क्या आप यह नहीं जानते की हमारी यह हरकतें पूरी दुनिया अपने घरो में बैठ कर टीवी पर देखती है। और हमारी इस छोटी समझ को द्देख कर हमारा मज़ाक उड़ाती है।

पूरी दुनिआ यह ही कहेगी की देखो इन बेवकूफ लोगों को जो किसी भी १ शक़्श के कहने पर अपनी समझ को एक तरफ रख के उसके पीछे हो लेते हैं।

हमारी आप सब से बस यही गुज़ारिश है की अपनी सोच को जरा ऊँचा कीजिये। अपनी समझदारी का परिचय देते हुए प्रशासन का सहयोग करें और अपने घरों में ही रहें। बहुत सी ऐसी चीज़ें हैं जिनमे आप खुद को व्यस्त रख सकते हैं।

क्या लॉकडाउन आगे बढ़ेगा

क्या लॉकडाउन आगे बढ़ेगा

(Lock Down) लॉक डाउन का अनमोल तोहफा।

मगर इस लॉक डाउन में हमने जीवन का बहुत ही अच्छा उपहार पाया है। और वो उपहार है अपनों से नज़दीकियां, उनके लिए वक़्त और उनको समझने का अवसर। आज पडोसी साथ बैठ के लूडो खेल रहे हैं, साथ मिल के खा पी रहे हैं।

एक दूसरे का हाल पूछ रहे हैं और प्रेम से मिल जुल कर समय वयतीत कर रहे हैं। आज के व्यस्त दौर में किसी के पास किसी के लिए समय नहीं है सब अपने काम धन्दों में व्यस्त हैं। मगर इस इस्थिति ने उन सब को इतना अपना बना दिया है जैसा पहले संभव नहीं था।

आज हम लॉक डाउन में अपने घरों में बंद हैं और इस बात से सरकार से नाराज़ भी हो रहे हैं। मगर जरा इस बात के दूसरे पहलू पर नज़र डालिये की यह कितना खूबसूरत है।

हम सब पड़ोसी और हमारे रिश्तेदार हमारे कितना करीब आ गए हैं। आज उनके पास हमारे लिए समय है और हमारे पास उनके लिए भरपूर समय है।

इस से हमारे देश की एकता और भाईचारा कितना बढ़ गया है इस पहलू पर भी गौर करिये। और इस बंदिश में भी सकारात्मकता देखिये, फिर आपका समय कैसे वयतीत होता है आपको खुद पता नहीं चलेगा।

और कोरोना वायरस के खिलाफ हमारी यह जंग हम कब जीत जाएंगे यह भी पता नहीं चलेगा। इसलिए कृपया अपने घरो में रह कर प्रशासन का सहयोग करें और अपने साथ दूसरों को भी सुरक्षित रखें।

For More Latest Updates Please Like Us On Our Facebook Page.

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial