शराब माफियाओं पर पुलिस का शिकंजा अंग्रेजी शराब दुकान मालिक के खिलाफ मुकदमा दर्ज़

भगवानपुर घाड़ क्षेत्र के हाल्लूमजरा मानक मजरा चौराहे का है।जहां पर एक अंग्रेजी शराब और महा ठंडी बीयर की दुकान है।जहां एक तरफ कोरोना वायरस को लेकर देश में लॉकडाउन बाजार बंद और हाई अलर्ट जारी है।पुलिस प्रशासन चप्पे-चप्पे पर तैनात हैऔर जनता से बार-बार पुलिस प्रशासन की ओर से अपील की जा रही है कि अपने घरों में रहे सावधानी बरतें कुछ बेरोजगार गरीब परिवार के लोगों को पुलिस प्रशासन राशन खाने का भोजन घर घर पहुंचा रहा है।

लेकिन एक तरफ अवैध तरीके से शराब माफिया गांव दर गांव मैं शराब बिक्री कर युवाओं को नशे की ओर धकेलने का काम कर रहे हैं। लोगों की जिंदगी में खुलेआम जहर घोला जा रहा है। कुछ महीनों पहले उत्तर प्रदेश उत्तराखंड में शराब कांड से सैकड़ों मौतें हो चुकी हैं।

liquor shop illegal sale

मित्र पुलिस ने कच्ची शराब बनाने वाले माफियाओं के ठिकानों पर छापेमारी कर शराब बनाने के ड्रम वह भटिया तोड़ी गई और उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही भी की गई लेकिन नशा कारोबारियों के के हौसले इतने बुलंद हैं।

पुलिस प्रशासन को बार-बार चुनौती देकर खुलेआम तस्करी कर रहे हैं। मौका देखते ही ठेके का शटर खोलकर कट्टो में भरकर तस्करी कर शराब बेची जा रही है।जबकि पुलिस गश्त भी कर रही है।हर वक्त चौराहे पर पुलिस का पहरा भी रहता है।अब सोचने वाली बात यह है पुलिस के होते हुए भी शराब माफिया पुलिस प्रशासन के साथ आंख मिचोली खेलने का काम कर रहे हैं।

लॉकडाउन महामारी का खुलेआम उल्लंघन हो रहा है।कानून की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं।इससे साफ जाहिर कि जिस तरह से मीडिया के माध्यम से सीसीटीवी फुटेज लेकर भगवानपुर पुलिस ने ठेका स्वामी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की है।

अब यह कहने में गुरेज नहीं होगा कि माफिया कितना भी शातिर क्यों न हो लेकिन कानून के आगे पस्त होना ही पड़ेगा अब सवाल यह भी है। जिस वक्त मीडिया कर्मी ठेका स्वामी के पास पहुंचे और सवाल किया कि लॉक डाउन के दौरान आपने ठेका खुला हुआ है यह कानून का उल्लंघन है।

तो ठेका स्वामी कुछ ना कहते हुए मौके से फरार हो गया और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के पत्रकार को ठेका स्वामी ने चुनौती देकर कहां है कि मैं तुझे देख लूंगा अब सवाल यह भी है कि सच्चाई दिखाने पर चौथे स्तंभ कहे जाने वाले पत्रकार को अवैध तरीके से शराब बिक्री करने वालों के धमकी भरे फोन भी आ रहे हैं।

अब देखना यह होगा कि अगर किसी तरह पत्रकार के साथ अनहोनी होती है। तो इसके जिम्मेदार सिर्फ ठेका स्वामी होंगे नशे का कारोबार करने वालों पर कानून के रखवाले कार्यवाही करते हैं।या फिर नहीं इसी तरह से पुलिस प्रशासन अवैध तरीके से नशा कारोबार करने वालों को खुलेआम छूट देंगी यह तो आने वाला कल ही बताएगा।

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial