सोशल मीडिया पर टिप्पणी, पूर्व विधायक ने कहा मेरे खिलाफ बड़ी राजनीतिक साजिश

(शाहनज़र अली ) सोशल मीडिया पर टिप्पणी, रुड़कीं के मंगलौर में मस्जिद में नमाज़ पढ़ने को लेकर दो पक्षों में  मारपीट के मामले ने तूल पकड़ लिया है एक तरफ जहां मंगलोर पुलिस ने बसपा के पूर्व विधायक हाजी सरवत करीम अंसारी के अलावा 20 अन्य लोगो के खिलाफ सोशल डिस्टेंस और लॉक डाउन के उल्लंघन के मामले में  मुकदमा दर्ज किया है।

वही सोशल मीडिया पर पूर्व बसपा विधायक के खिलाफ मस्जिद के इमाम के साथ मारपीट     जैस  गंभीर आरोप लगाकर पूर्व विधायक की छवि को धूमिल किया गया  है सोशल मीडिया पर घटना वायरल होते ही  पूर्व  विधायक  हाजी सरवत करीम अंसारी और उनके  समर्थकों में भारी  रोष व्याप्त है।वहीं मस्जिद के इमाम ने भी अपने साथ मारपीट से साफ इनकार कर दिया है।

सोशल मीडिया पर टिप्पणी
सोशल मीडिया पर टिप्पणी

इस मौके पर  पूर्व विधायक सरवत करीम अंसारी ने आरोप लगाया कि कुछ लोग उनकी छवि को धूमिल करने का प्रयास कर रहे है यह घटना उनके खिलाफ एक राजनीतिक साजिश है जिसे किसी भी सूरत में बर्दाश्त नही किया जायेगा। 

उन्होंने कहा कि  उनका मारपीट  जैसी घटना से कोई लेना देना तक नहीं है उनको इस मामले में बेवजह ही घसीटा जा रहा है। पूर्व विधायक ने आरोप लगाया की पूरी घटना एक राजनीतिक षड्यंत्र के तहत रची गयी थी  जिसमे जाहिद पक्ष के लोगो ने सोशल डिस्टेंस और लॉकडाउन का उलंघन कर कुछ लोगों पर हमला कर दिया था। 

जिनके खिलाफ पुलिस को सख्त कार्यवाही करनी चाहिए वहीं  पूर्व विधायक ने कहा कि अगर  किसी ने भी उनकी छवि को धूमिल करने की कोशिश की तो वो आत्महत्या जैसा बड़ा कदम भी उठा सकते है इस दौरान मंगलौर नगर पालिका के पूर्व चैयरमेन डॉ. शमशाद ,मो.शफी एडवोकेट आदि ने कहा कि सोशल मीडिया पर पूर्व विधायक की छवि को धूमिल करना भारी पड़ सकता है।

Wordpress Social Share Plugin powered by Ultimatelysocial